30 April, 2009

नेता

राजनीति के भंवर मे सब नेता बन गये हैं
इस देश के निर्माता अभिनेता बन गये हैं
महिलाओं की आज़ादी के भाषण कूटते हैं
चौरास्ते पर उनकी इज्जत लूटते हैं
गरीबों की भलाई के लिये क्या नही करते
उनके नाम की ग्रांट से अपनी जेबें भरते
भ्रष्टाचार खत्म करने की कसमे खाते हैं0
बेईमानी की गंगा मे दिन रात नहाते हैं
जो सच्चा इनसान हो उससे तो कतरातेहैं
वो काम कराने जाये तो उसे डराते है
काम कराना हो इनसे तो नेतगिरी दिखलाओ
विपक्षी की निन्दा करो इस नेता के गुण गाओ

15 comments:

विनय said...

कविता गहरी चोट करती है

---
तख़लीक़-ए-नज़रचाँद, बादल और शामगुलाबी कोंपलेंतकनीक दृष्टा

अनिल कान्त : said...

क्योंकि वो जानते थे और जानते हैं कि जनता की मानसिकता और उनका उपयोग अपनी भलाई में कैसे किया जाए .... जानते हैं जनता बातें बहुत करती है ...लेकिन अंततः होना तो यही है कि हम जैसा ही कोई नेता कुर्सी पर बैठेगा ....इसी लिए वो ऐसे हैं ...और खूब घी, दूध, मक्खन की छान रहे हैं ...करोडों कमा रहे हैं और खुद को गरीब जाता रहे हैं

श्यामल सुमन said...

नेता और कुदाल की नीति रीति है एक।
समता खुरपी सी नहीं वैसा कहाँ विवेक।।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com
shyamalsuman@gmail.com

mehek said...

satik rachana,gehra waar kar gayi,waah lajawab

SWAPN said...

karara kataksh. nirmala ji neta naam to abhishaap hi ban gaya hai.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

नेताओं के चरित्र पर
करारा प्रहार।

R.K. said...
This comment has been removed by the author.
R.K. said...

aap punjab se hain na, debi makhsoospuri ki ek line yaad aayi:

Saade chehre ne insaanan de, insaanan wali baat nahi;
Ik paisa chahudar yaad hai bas, chete apni aukaat nahi.

Album:Debi Live 3
Song: Rabba

Udan Tashtari said...

सटीक एवं शार्प कविता.

अजित वडनेरकर said...

राजनीति के भंवर मे सब नेता बन गये हैं
इस देश के निर्माता अभिनेता बन गये हैं

एकदम सही तस्वीर है...

महामंत्री - तस्लीम said...

राजनीति पर तीखी टिप्‍पणी है आपकी गजल।

-----------
TSALIIM
SBAI

शोभना चौरे said...

महिलाओं की आज़ादी के भाषण कूटते हैं
चौरास्ते पर उनकी इज्जत लूटते हैं
bhut sahi kaha hai
abhineta ka kam hota hai abhinay karna vo kam vo bakhubi kar rhe hai
jha paisa mile mile nachne chle jate hai jha paisa mile bhashan dene phuch jate hai .

irdgird said...

सत्‍यवचन।

रवीन्द्र दास said...

bahut kuchh kaha ya shayad sab kuchh kah diya. bahut khoob.

Babli said...

बहुत बहुत शुक्रिया आपने मेरे दोनों ब्लॉग पर बहुत ही सुंदर टिपण्णी दी है! आते रहिएगा!
मैंने आपका ये ब्लॉग आज पहली बार देखा और बेहद पसंद आया! बहुत ही शानदार लिखा है आपने!

पोस्ट ई मेल से प्रप्त करें}

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner