16 December, 2009

मैं नेता बनूंगा [व्यंग ]
एक दिन बेटे से पूछा ;बेटा क्या बनोगे?:
कौन सा प्रोफेशन अपनाओगे,किस राह पर जाओगे
वह थोडा हिचकिचाया,फिर मुस्कराया और बोला
मैं नेता बनूंगा
मैं हुआ हैरान उसकी सोच पर परेशान
नेता बनना होता है क्या इतना आसान?
फिर पूछा :बेटा नेता जैसी योग्यता कहां से लाओगे?
लोगों में अपनी पहचान कैसे बनाओगे?
वो जरा सा मुस्कराया
और  बोला मुझे सब पता है
नेता के लिये मिनिमम कुयालिफिकेशन है---
1पहली जमात से ऊपर पास हो या फेल
2 किसी न किसी केस में कम से कम एक बार हुई हो जेल
3 गणित मे करोडों तक गिनत जरुरी है
इस के बिना नेतागिरी अधूरी है
4 माइनस डिविजन चाहे ना आये पर
प्लस मल्टिफिकेशन बिना
नेता बनने की चाह अधूरी है
5 सइकालोजी थोडी सी जान ले
ताकि वोटर की रग पह्चान ले
6 डराईंग में कलर स्कीम का ग्याता हो
गिरगिट  की तरह रंग बदलना आता हो
लाल, काले सफेद से ना घबराये
नेता की पोशाक में हर रंग समाये
पिताजी बस अब भाई दादाओं के हुनर जानना है
 उस के लिये किसी अच्छे डान को गुरू मानना है
डाक्टर इंजनिय्र बनकर मै भूखों मर जाऊंगा
नेता बन कर ही होगा गाडी बंगला और विदेश जा पाऊंगा
मैने सोचा, और  बहुमत में नेताओं को ऎसा पाया
बस फिर क्या? अपने बेटे की बुद्धि पर हर्शाया

39 comments:

Udan Tashtari said...

जबरदस्त एवं सटीक रचना!! वाह..

जी.के. अवधिया said...

ये सारे गुण हममे नहीं थे इसलिये हम नेता नहीं बन पाये!

शरद कोकास said...

चिंता न करें जल्द ही देश में नेता बनाने की इंस्टिट्यूट खुलने वाली है ..हाहाहा

Arvind Mishra said...

आपके हर्षित होने के दिन अब आये ....

Kusum Thakur said...

निर्मला जी ,
वाह ! आज कल के नेताओं के योग्यता का बखान बहुत अच्छा लगा . आभार !!

विनोद कुमार पांडेय said...

majedaar critiria neta banane ka bahut badhiya chaliye logo ka confusion door hua jald se in sab aawshaytao ko pura kare aur desh ka vyapaar kaane ke liye aa jaye raajniti ki ladai me..badhiya vyang..dhanywaad nirmala ji

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सुंदर व्यंग्य रचना! बधाई!

योगेश स्वप्न said...

wah neta ki minimum qualification, kisi ko banna ho to ye rachna avashya padhe.

Suman said...

nice

sada said...

बहुत ही सुन्‍दर एवं सटीक अभिव्‍यक्ति, आभार ।

sangeeta said...

badhiya vyang hai aaj kal ke netaon par......aur aaj bina mehanat ke jo sab sukh suvidha paa lena chahte hain un par bhi......badhai

खुशदीप सहगल said...

नेता जी बूढ़े हो गए...बेटे ने कहा, अब आप घर बैठो...मुझे राजनीति में आने दो...नेताजी बेटे को घर की छत पर ले गए...कहा, छलांग मार दे...बेटे ने पिता का कहना माना और छलांग मार दी...बेटे की टांग टूट गई...बेटा नेताजी से बोला...ये कौन सा बदला लिया, मैंने राजनीति सिखाने को कहा और आपने टांग तुड़वा दी..नेताजी बोले...राजनीति का यही पहला सबक है...बाप की बात पर भी भरोसा नहीं
करो...

जय हिंद...

पी.सी.गोदियाल said...

ड्राइंग में कलर स्क्रीन का ज्ञांता हो,
गिरगिट की तरह तंग बदलना आता हो ....!
बहुत खूब

अन्तर सोहिल said...

"काश ये गुण हममें भी आते
हमारे पिताजी भी हमें देख हर्षाते"

प्रणाम स्वीकार करें

वन्दना said...

behtreen vyangya.

योगेन्द्र मौदगिल said...

Wahwa...kya baat hai...achhi rachna....

संजय भास्कर said...

बहुत ही सुन्‍दर एवं सटीक अभिव्‍यक्ति, आभार ।

संजय कुमार
हरियाणा
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

परमजीत बाली said...

बिल्कुल सही चित्रण कर दिया नेताओ की योग्यता का...बहुत सुन्दर व्यंग्य रचना है।...

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

बहुत समझदार बेटा निकला जी, बधाई।
--------
छोटी सी गल्ती जो बडे़-बडे़ ब्लॉगर करते हैं।
क्या अंतरिक्ष में झण्डे गाड़ेगा इसरो का यह मिशन?

रंजना [रंजू भाटिया] said...

acchi लगी आपकी yah रचना सच्च्चाई से रूबरू है ..

Mrs. Asha Joglekar said...

बढिया व्यंग । बेटाजी की तैयारी जोरदार है ।

हर्षिता said...

achchhi kavita.

rashmi ravija said...

बहुत ही करार व्यंग है,नेताओं पे.....समयानुकूल

डॉ टी एस दराल said...

वाह, ये तो नेताओं पर पूरी थीसिस हो गयी।
आनंद आ गया पढ़कर। बधाई।

नीरज गोस्वामी said...

सटीक व्यंग...आज के नेताओं पर...वाह...
नीरज

मनोज कुमार said...

रचना .... काफी अच्छी लगी।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

बिलकुल ठीक!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

व्यंग्य विल्कुल सटीक रहा!

AKHRAN DA VANZARA said...

Excellent satire....

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बहुत ही जोरदार व्यंग्य रचना........पढकर सचमुच बहुत आनन्द आया ।
आभार्!

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

इससे बढिया जाब तो हो ही नहीं सकती.

Sadhana Vaid said...

बहुत सटीक और चुटीला व्यंग्य है । बधाई ! काश आम जनता की आँखे खुल सकें इसे पढ़ कर ।

kshama said...

Mai bhee apne bete ek baar poochh baithi thee...aur usne theek aise hee javab de diya tha..aage bola tha," I am already over qualified to be fit enough"....wah 9th class me tha!

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

wah wah wah...
amazing.....
ye neta kuch nahi deta hai....
bas leta leta leta hai...

cheers!

दिगम्बर नासवा said...

बहुत अच्छा व्यंग है ......... नेता बनना सच मुच आज बहुत फायदे का सौदा है .........

KAVITA RAWAT said...

Maaji Sundar prastuti. Vartmaan pradarshay mein sateek vyag....

JHAROKHA said...

AdaraNeeya Nirmala ji,
apke vyangya lajavab hote hain---kafee teekha prahar karate huye.
Poonam

अजय कुमार said...

आसान और टिकाऊ कैरियर

दर्शन said...

Accha to ab vyang bhi?

Adbhut katax kiya hai aapne...


...Aur kisi bhi pita ke liye ye harsh ka vishay hona chahiye ki uska beta neta banega...

aur waise ye 6 rules follow karne utne mushkil bhi nahi.
Sochta hoon apne pitaji ko bhi khush kar doon.

;).

पोस्ट ई मेल से प्रप्त करें}

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner